0,00 ₹

No products in the cart.

Free shipping on any purchase of ₹299 or more!

[email protected]

+91 8762939845

0,00 ₹

No products in the cart.

Giloy Ke Fayde: गिलोय से 10 बीमारियों से मिलेगा निजात

More articles

Gharooti Teamhttps://ghargooti.com
Ghargooti Team at Ghargooti.com is a team of Health experts led by Akshay Anvekar. Trusted by over a Million readers worldwide.

Giloy Ke Fayde in Hindi: जुलाई को संस्कृत में अमृत, अमृत बल्ली, अमृत वल्ली के नाम से जाना जाता है। पुराने जमाने से ही आयुर्वेदाचार्य का कहना है कि गिलोय में ऐसे औषधीय गुण मौजूद है, जिन की मदद से हम कई सारे सेहत संबंधित समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं। 

गिलोय के फायदे
Giloy

आचार्य श्री बाल कृष्ण जी और बाबा रामदेव जी ने भी हर दिन गिलोय का सेवन करने के बारे में बताया है। गिलोय के पत्ते और जड़ो सभी में औषधीय गुण मौजूद है। इसके पत्ते कसैले, कड़वे और तीखे होते हैं। आमतौर पर गिलोय का उपयोग शरीर में मौजूद वात, पित्त और कफ को ठीक करने के लिए किया जाता है। 

पुराने जमाने में लोगों के घर में दादा दादी या फिर नाना नानी बच्चों को गिलोय का काढ़ा बनाकर पिलाती थी, उनको भी पता था कि इसमें चमत्कारी फायदे छुपे हुए हैं। इस लेख में आपको गिलोय के फायदे, इसके औषधीय गुण और उपयोग के बारे में जानकारी प्राप्त होने वाली है।

गिलोय के फायदे – 10 Benefits of Giloy

1. कब्ज से मिले आराम

कब्ज
कब्ज

आजकल युवाओं से लेकर बड़े लोगों तक कब्ज और अपच की समस्या होती है। यदि आप भी कब्ज से राहत पाना चाहते हैं, तो सुबह-शाम गिलोय का काढ़ा बना कर पीजिये। इस काढ़े को बनाने के लिए सोंट, मोथा, अतीस और गिलोय बराबर मात्रा में मिलाकर पानी में डालकर उबाल लीजिए और उस रस में से लगभग 30 मिली की मात्रा में सुबह और शाम पीने से फायदा मिलेगा।

2. बुखार कम करने के लिए फायदेमंद

बुखार
बुखार

कफ खांसी बुखार जैसे गंभीर बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए गिलोय काम में आता है। इन से राहत पाने के लिए सुबह-सुबह गिलोय के पत्ते या जड़ को पीस लें या फिर इसके चूर्ण को पानी में मिलाकर उबाल लीजिए। लगभग 20 मिलीग्राम गिलोय के रस को खाली सुबह पेट में लेने से बुखार के अलावा अन्य बड़ी समस्याएं भी दूर भाग जाएगी। 

3. अस्थमा के मरीजों के लिए अमृत

अस्थमा
अस्थमा

अस्थमा की बीमारी भारत में बहुत तेजी से बढ़ रही है और ज्यादातर अस्थमा की बीमारी बूढ़े लोगों को होती है। गिलोय की जड़ को चबा चबा कर सेवन करने से या फिर गिलोय की जड़ को पानी में उबालकर पीने से भी अस्थमा के मरीजों के लिए फायदा होगा।

4. डायबिटीज टाइप 2 मरीजों के लिए लाभकारी

डायबिटीज
डायबिटीज

एक्सपर्ट ऐसा कहते हैं कि गिलोय डायबिटीज टाइप 2 मरीजों के लिए अमृत के समान है। क्योंकि डायबिटीज टाइप 2 मरीजों की स्थिति में शरीर में इंसुलिन लेवल बढ़ जाता है, जिससे ब्लड शुगर लेवल बढ़ता है। लेकिन गिलोय का सेवन करने से ग्लूकोस और ब्लड शुगर लेवल का स्तर कम होता है, जिससे उन मरीजों को जबरदस्त फायदा होता है।

5. तनाव से दिलाएं निजात

तनाव
तनाव

ऐसा कहा जाता है कि शरीर में जो भी बीमारियां पैदा होती है, उनका कारण दिमाग में मौजूद तनाव होता है। यदि हम तनाव भरी जिंदगी जी रहे हैं तो बीमारियों का आना आम बात है। लेकिन क्या आपको पता है, गिलोय में ऐसे औषधीय गुण मौजूद है, जिनसे तनाव से राहत मिलने में मदद मिलती है। यदि आप भी तनाव से जूझ रहे हैं तो केवल कुछ दिनों के लिए सुबह शाम गिलोय से बने काढ़े का सेवन करने से लाभ मिलेगा।

6. इम्यूनिटी को करें मजबूत

इम्युनिटी
इम्युनिटी

कोविड-19 वायरस की वजह से भारत में ही नहीं पूरी दुनिया के लोग जूझ रहे हैं। लाखों लोग मर चुके हैं। ऐसा कहा जाता है कि यदि इंसान की इम्युनिटी सिस्टम मजबूत है, तो कोविड-19 कुछ नुकसान नहीं कर सकता। लेकिन यदि शरीर में इम्यूनिटी ही नहीं है तो कोरोनावायरस आसानी से आप को नुकसान कर सकता है। शरीर में इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए सबसे बेस्ट आयुर्वेदिक फार्मूला गिलोय है। हर दिन कुछ समय के लिए सुबह खाली पेट गिलोय का सेवन करने से पेट साफ रहता है और खून भी शुद्ध हो जाता है। धीरे-धीरे शरीर की इम्यूनिटी भी मजबूत हो जाती है।

7. गठिया में राहत 

गठिया
गठिया

गठिया जैसी गंभीर बीमारी से छुटकारा पाने के लिए हर दिन सुबह लगभग गिलोय के 10 मिलीग्राम रस या फिर चूर्ण का सेवन करने से लाभ मिलता है। इसके अलावा गिलोय के साथ सोंठ का सेवन करने से भी जोड़ों का दर्द मिट जाता है। लेकिन यदि आप गठिया के लिए अन्य दवाइयां ले रहे हैं, तो गिलोय लेने से पहले आयुर्वेदिक डॉक्टर से जरूर सलाह लीजिए।

8. कुष्ठ रोग का इलाज

कुष्ट रोग
कुष्टरोग

यदि आप कुष्ठ रोग से पीड़ित है या फिर आपका कोई करीबी इस रोग से पीड़ित है तो उन्हें कहिए कि गिलोय इसका सबसे अच्छा इलाज है। क्योंकि गिलोय के अंदर ऐसे गुण पाए जाते हैं, जो कि कुष्ठ रोग को जड़ से मिटाने में मदद करते हैं। इस वजह से हर दिन सुबह खाली पेट 20 ग्राम गिलोय का रस पीने से फायदा होगा। इसके अलावा आप इस रस को सुबह और शाम भी एक महीने तक ले सकते हैं।

9. ह्रदय को रखें गिलोय से स्वस्थ

हृदय
हृदय

स्वस्थ हृदय के लिए भी गिलोय अच्छा माना गया है, आजकल बहुत सारे युवा और बूढ़े हार्टअटैक जैसे गंभीर कारण की वजह से मर रहे हैं। यदि आप अपने हृदय को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो कुछ समय के लिए हर दिन सुबह गिलोय का सेवन जरूर करें। आप गिलोय चूर्ण का सेवन या फिर गिलोय रस का सेवन कर सकते हैं। 

10. लिवर विकार को ठीक करें

लिवर
लिवर

यदि शरीर में लीवर ठीक तरह से काम नहीं करता है और लीवर विकार वगैरह है, तो शरीर में अपनी बीमारी भी घर कर लेती है। लिवर विकार को ठीक करने के लिए गिलोय सबसे अच्छा औषधि माना जाता है। 2 ग्राम अजमोद, 2 नग छोटी पीपल और 2 नग नीम और 18 ग्राम ताजी गिलोय को 250 मिली लीटर पानी के साथ रात को रखकर, इस मिश्रण को केवल 15 दिन सुबह सेवन करने से लीवर की बीमारियों से राहत मिलेगी।

वैसे तो गिलोय के फायदे अनगिनत है। लेकिन हमने इस लेख में कुछ महत्वपूर्ण Giloy Ke Fayde के बारे में जानकारी प्रदान करने की कोशिश की है। आयुर्वेद के पुस्तकों में ऐसी बहुत सारी जानकारियां छुपी है, जिनके बारे में हम अभी भी अनजान है। गिलोय का सेवन करने से पाचन तंत्र भी ठीक होता है, कैंसर से पीड़ित लोगों के लिए भी है लाभकारी है और अन्य बहुत सारी बीमारियों को गिलोय आसानी से ठीक करता है। 

Frequently Asked Questions

गिलोय कितने दिन तक पीना चाहिए?

आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों को आयुर्वेदाचार्य अपने मरीजों को 48 दिनों तक सेवन करने की सलाह देता है। लेकिन गिलोय का सेवन करने के लिए एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

गिलोय का क्या क्या फायदे हैं?

गिलोय से वात, पित्त, कफ रोगों से निजात मिलता है। हाथ पैरों में जलन, कमजोरी, कान में सूजन, पेट से जुड़ी बीमारियों से छुटकारा मिलता है।

गिलोय का काढ़ा कब पीना चाहिए?

गिलोय का काढ़ा पीने का सबसे अच्छा समय सुबह खाली पेट होता है। नियमित रूप से सुबह और शाम भी गिलोय का सेवन करने से अच्छा लाभ मिलता है।

गिलोय की गोली खाने से क्या फायदा होता है?

गिलोय की गोली से ज्यादा ताजा गिलोय या फिर गिलोय के पाउडर का सेवन करना सबसे अच्छा है। इसके अलावा गिलोय की गोली खाने से भी बहुत से लाभ मिलते हैं। जैसे कि पेट से जुड़ी सभी बीमारियां नष्ट हो जाती है, जैसे कि कब्ज़, एसिडिटी, डायरिया आदि।

गिलोय का साइड इफेक्ट क्या है?

नियमित रूप से गिलोय का अत्यधिक सेवन करने से पेट की समस्या शुरू हो सकती है, जैसे कि कब्ज।

इन्हें भी पढ़े: पीपल के पत्ते के 10 चमत्कारी फायदे – Pipal Leaves Benefits

धन्यवाद…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

LATEST